Ashwini Dev Pandey

Ashwini Dev Pandey

Saturday, November 13, 2010

कौन किसे सिखाये







कौन किसे सिखाये

(यातायात माह )

नवम्बर का महीना यातायात का महीना है .....पुलिस यातायात के नियम और कानून जनता को बताती है लोगों को जागरूक करती है ....ताकि लोग गाड़ियों को ठीक ढंग से चलायें जिससे होने वाली दुर्घटना से बच सके .......पुलिस ने ये सारी कवायद को पूरा भी किया ......मगर कैसे?आईये हम आपको दिखाते है.....
जनपद सोनभद्र में यातायात माह के दौरान पुलिस ने एक समारोह के माध्यम से लोगो को यातायात के नियमों के बारे में जागरूक कर रही है ....... तैयारी एक जलसे के जैसा ....मुख्य अतिथि सोनभद्र के पुलिस कप्तान डॉ.प्रितिंदर सिंह और जिलाधिकारी पन्धारी यादव और भी जनपद के बरिष्ठ अधिकारी ....समारोह में शामिल हुए उन्होंने लोगो को जागरूक भी किया .....लेकिन खुद और अपनी पुलिस को जागरूकता का पाठ नहीं पढ़ा पाए........समारोह में जागरूकता के नाम पर लगे पोस्टर(जिस पर लिखा है "(हमारा सुरक्षा आपकी दायित्व ") पर लिखा लिटरेचर और मात्रा कि बनावट से आप खुद ही अंदाज़ा लगा सकते है कि यातायात के नाम पर पुलिस इस मौके पर क्या बताना चाह रही है .......इस घटना ने एक बात तो साफ़ कर ही दिया कि जागरूकता कि ज्यादा जरूरत पुलिस को है पहले वो खुद जागरूक हो तब कही जाकर लोगो को जागरूक करे ....सबसे मजे कि बात तो ये है कि पूरा समारोह ख़त्म हो गया लेकिन किसी भी तथाकथित जिम्मेदार पुलिस अधिकारी कि नज़र इस बैनर पर नहीं गई.....पुलिस कि इस लापरवाही से यातायात माह जैसे महत्वपूर्ण योजना कि धज्जियाँ उड़ गई है .रैली में सामिल हुवे बच्चो से बैनर के बारे में बात करने पर बच्चो ने कहा कि पहले पुलिस अपने आप को सुधारे तो जनता खुद सुधर जाएगी

No comments:

Post a Comment